hindiallnews

lifestyle/myth news, lovelife news, tech news, lifestyle news, health news, all news, jokes, news, jobs news, health tips,

Monday, June 28, 2021

/ LASER क्या हैं?LASER का फुल फॉर्म क्या होता हैं? laser full form | laser full form in hindi

LASER क्या हैं?LASER का फुल फॉर्म क्या होता हैं? laser full form | laser full form in hindi

LASER का फुल फॉर्म क्या होता हैं जानें?

laser full form
laser-full-form

laser full form क्या होता हैं?

दोस्तों बहुत-बहुत स्वागत है आपका हमारी एक और शानदार इंटरेस्टिंग पोस्ट में दोस्तों आपने LASER का नाम तो जरूर सुना होगा परंतु क्या आप जानते हैं लेजर क्या होता है और इसके अलावा LASER का full form क्या होता है और लेजर को हिंदी और इंग्लिश भाषा में क्या कहा जाता है।

और इसके अलावा लेजर का इतिहास क्या है इसका प्रयोग कहां कहां पर किया जाता है यदि आप नहीं जानते हैं तो घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है आज की इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको लेजर के विषय के बारे में सारी उपरोक्त जानकारी देने वाले हैं।

इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको LASER के विषय के बारे में सारी उपरोक्त जानकारी प्राप्त हो जाएगी तो कृपया पोस्ट पर शुरू से लेकर अंत तक बने रहें तो चलिए बिना किसी देरी की आज की पोस्ट को शुरू करते हैं।


लेजर क्या हैं | what is the full form of laser?

LASER यह एक उपकरण है वह जो परमाणुओं या अणुओं को विशेष तरंग दैर्ध्य पर प्रकाश उत्सर्जित करने के लिए उत्तेजित करता है laser full form wikipedia के अनुसार | light amplification by the stimulated emission of radiation | होता है और लेजर को हिंदी भाषा में [ विकिरण के उत्सर्जन से प्रेरित लाइट प्रवर्धन ] कहा जाता है।

और लेजर यह उस प्रकाश को बढ़ाता है वह जो आम तौर पर विकिरण की एक बहुत ही संकीर्ण प्रकाश किरण का उत्पादन करता है और इसके साथ यह लेजर "विकिरण के उत्तेजित उत्सर्जन द्वारा प्रकाश प्रवर्धन" के लिए एक संक्षिप्त शब्द भी है।

और वह जिसको शॉट नाम में लेजर कहा जाता है साधारण शब्दों में कहें तो यह लेजर एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण होता है और वह जो लाईट (Light) का उत्पादन करता है और वह ये वास्तव में एक विद्युत चुम्बकीय विकिरण भी होता हैं।

और वह जो विद्युत चुम्बकीय विकिरण के ऑप्टिकल प्रवर्धन के माध्यम से ही  किया जाता है और लेजर का इस्तेमाल CD ROM, बार कोड रीडर आदि अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की एक महत्वपूर्ण।

विस्तृत श्रृंखला का निर्माण करने लिए ही किया जाता है और यह वह इन उपकरणों द्वारा उत्सर्जित प्रकाश पतला और सुसंगत होता है यह बहुत महत्वपूर्ण होता हैं।


LASER का इतिहास क्या है?

LASER के इतिहास की बात करें तो लेसर का इतिहास काफी पुराना है यह LASER सन1916 में सबसे बड़े साइंटिस्ट अल्बर्ट आइंस्टीन द्वारा दिए गए एक सुझाव का ही यह परिणाम है और वह उचित परिस्थितियों में परमाणु अतिरिक्त ऊर्जा को प्रकाश के रूप में भी आसानी से छोड़ सकते हैं।

और वह तो अनायास या प्रकाश के द्वारा उत्तेजित होने पर करते है और एक जर्मन भौतिक विज्ञानी रूडोल्फ वाल्थर लाडेनबर्ग ने यह सबसे पहली बार सन1928 में उत्तेजित उत्सर्जन देखा था और वह एक हालांकि उस समय इसका कोई व्यावहारिक रूप से इस्तेमाल नहीं हुआ था।

और सन1951 में चार्ल्स एच तोव्नेस ने तो वह कम से एक कोलंबिया विश्वविद्यालय में न्यूयॉर्क शहर में वहां पर एक तरह से प्रेरित उत्सर्जन उत्पन्न करने के लिए के बारे में सोचा और फिर वह माइक्रोवेव आवृत्तियों मै सन1953 के बिल्कुल अंत समय में वहां पर उन्होंने एक कार्य को करने वाले नए उपकरण का प्रदर्शन किया।

और वह जो एक गुंजयमान माइक्रोवेव गुहा में था और वह "उत्तेजित" ( ऊर्जा के स्तर और उत्तेजित उत्सर्जन के नीचे देखें ) वह अमोनिया अणुओं को एक जगह पर केंद्रित करता था वह जहां उन्होंने एक शुद्ध माइक्रोवेव आवृत्ति का उत्सर्जन किया था।

और उसके बाद वह टाउन्स ने डिवाइस को "विकिरण के उत्तेजित उत्सर्जन द्वारा माइक्रोवेव प्रवर्धन" के लिए उन्होने इसको एक मेज़र नाम दिया और वह जो एक अलेक्जेंडर मिखाइलोविच प्रोखोरोव औरमॉस्को में पीएन और इसके साथ के लेबेदेव फिजिकल इंस्टीट्यूट के निकोले गेनाडियेविच बसोव ने स्वतंत्र रूप से मेसर ऑपरेशन के सिद्धांत का वर्णन किया गया था।

और वह सभी अपने कार्य के लिए 3 नो ने भौतिकी के लिए सन1964 का नोबेल पुरस्कार साझा किया और इसके साथ मै साल सन1962 में कुछ समय पहले लेसर डायोड का प्रदर्शन रॉबर्ट एन हॉल ने ही किया था और वह एक हॉल का इस उपकरण गैलियम आर्सेनाइड से बना हुआ है।

और वह एक अवरक्त के स्पेक्ट्रम के क्षेत्र में 850 NN का उत्सर्जन करता था और वह जब किसी भी प्रकाश को एक बिंदु पर एक बार FOCUS किया जाता था और वह तो इस में लगातार प्रकाश उत्पादित होता था और इसलिए यह प्रकाश लेसर कहलाता है।

इसे लेसर किरण प्रायः आकाशीय नाम से सरल रैखीय और वह एक स्रोतीय (Coherent) प्रकाश की एक संकरी जैसे वह Dead beam के रूप में होती है और वह एक संकरी Wave Length spectrum की एकवर्णीय प्रकाश मै होती है।

और यह LASER की टेक्नोलॉजी 'फेमेटो तकनीक' पर आधारित है और वह इसमें प्रकाश को फेमेटो के स्तर (10-15 m) तक एक ही बिंदु पर आसानी से एक जगह पर Focus किया जाता है यह बहुत बेहतरीन कार्य करती है।


दुनिया मै सबसे पहले LASER का आविष्कार किसने किया था | Who invented the first laser?

दुनिया में सबसे पहला LASER का आविष्कार [ Theodore Maiman ] [ थिओडोर मैमन ] ने सन1960 में ह्यूजेस रिसर्च लैब में पहला काम करने वाला लेजर बनाया गया था और ह्यूजेस रिसर्च लेबोरेटरीज के थियोडोर मैमन वह पहले लेजर के साथ काम करने वाले पहले व्यक्ति थे।

और उन्होंने यह पहले LASER के संचालन का वर्णन करने वाला उनका पेपर तीन महीने बाद मै नेचर में इसको प्रकाशित हुआ था और यह बहुत बेहतरीन कार्य करता था।


LASER का full form क्या होता हैं | full form of laser?

LASER का फुल फॉर्म | light amplification by the stimulated emission of radiation | होता है और सरल शब्दों में कहें तो लेजर का पूर्ण रूप (लाइट एम्पलीफिकेशन बय स्टिम्युलेटेड एमिशन ऑफ रेडिएशन) है और लेजर एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण होता है।

और वह जो प्रकाश की किरणों का उत्पादन करता है अर्थात प्रकाश का उत्पादन करता है और LASER यह वास्तव में एक विद्युत चुम्बकीय विकिरण होता है और इसके साथ मै यह विद्युत चुम्बकीय विकिरण से ऑप्टिकल प्रवर्धन के माध्यम से ही किया जाता है।

और यह LASER का प्रयोग सीडी रोम, बार कोड रीडर इत्यादि अन्य तरह के इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की वह श्रृंखला के निर्माण के लिए ही लेजर का इस्तेमाल किया जाता है और यह इन इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों द्वारा उत्सर्जित प्रकाश पतला और सुसंगत है।

और बता दे की वह अगर इसको हम और साधारण शब्दों में कहे तो यह LASER प्रकाश प्रवर्धन का एक उपकरण है और वह जो फोटॉनों के माध्यम से उत्तेजित उत्सर्जन के आधार पर ही ऑप्टिकल प्रवर्धन की प्रक्रिया के माध्यम से वह एक सुसंगत मोनोक्रोमैटिक प्रकाश की एक तीव्र किरण का उत्पादन करता है।

दोस्तों अब हमने laser ka full form क्या होता है इसके बारे में अच्छे से जान और समझ लिया है चलिए अब आगे बढ़ते हैं और लेजर के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त कर लेते हैं।


लेजर का फुल फॉर्म हिंदी में क्या होता हैं | laser full form in hindi?

LASER का फुल फॉर्म हिंदी में | विकिरण के उत्सर्जन से प्रेरित लाइट प्रवर्धन | होता है LASER यह इंसान के द्वारा बनाया गया एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण होता है जो उपकरण प्रकाश की किरणों को पैदा करने की क्षमता रखता है अर्थात लेजर उपकरण प्रकाश का उत्पादन करता है और इसके साथ लेजर विद्युत चुम्बकीय विकिरण होता है।

एल - विकिरण के
ए - उत्सर्जन से
एस - प्रेरित
ई - लाइट
आर - प्रवर्धन
 
और बता दें कि LASER का इस्तेमाल जैसे इलेक्ट्रॉनिक उपकरण सीडी रोम जैसे उपकरणों की संखला का निर्माण करने के लिए लेजर का इस्तेमाल किया जाता है लेजर यह फोटॉनों के माध्यम से ही प्रकाश की किरणों को पैदा।

कर प्रकाश की किरणों को एक जगह पर केंद्रित करने में सक्षम होता है लेजर प्रकाश की किरणों को एक बिंदु पर केंद्रित करता है यही इसकी सबसे बड़ी खासियत होती है।


LASER का फुल फॉर्म इंग्लिश में क्या होता हैं | laser full form in english?

LASER का फुल फॉर्म इंग्लिश में | light amplification by the stimulated emission of radiation | होता है लेजर यह एक इंसान द्वारा बनाया गया बेहतरीन इलेक्ट्रॉनिक उपकरण होता है और सरल शब्दों में यह एक उपकरण है वह जो परमाणुओं या अणुओं को विशेष तरंग दैर्ध्य पर प्रकाश उत्सर्जित करने के लिए उत्तेजित करता है।

और उस प्रकाश को बढ़ाता है अर्थात प्रकाश की किरणों को पैदा करता है और उन किरणों को एक सीधी एक रेखा में एक बिंदु पर केंद्रित करता है।

L - LIGHT
A - AMPLIFICATION
S - STIMULATED
E - EMISSION
R - RADIATION

सरल शब्दों में बात करे तो वह LASER प्रकाश की एक बहुत ही संकीर्ण किरण का उत्पादन करता है और वह जो कई इलेक्ट्रॉनिक तकनीकों और उपकरणों में उपयोगी होती है और यह लेज़र शब्द के अक्षर विकिरण के उत्तेजित उत्सर्जन द्वारा प्रकाश प्रवर्धन के लिए है।

और इसके साथ यह लेज़र शब्द के अक्षर विकिरण के उत्तेजित उत्सर्जन द्वारा प्रकाश प्रवर्धन के लिए खड़ा है इसका इस्तेमाल इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की श्रंखला के निर्माण के लिए किया जाता है यह बहुत महत्वपूर्ण होता है।

दोस्तों अब हमने इंग्लिश भाषा में laser full form क्या होता है इसको अच्छे से जान और समझ लिया है अब आगे बढ़ते हैं और इसके अतिरिक्त और जानकारी प्राप्त कर लेते हैं।
laser full form
laser-full-form

LASER का इस्तेमाल कहा कहा पर किया जाता है? 

LASER यह एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस उपकरण होता है और जो अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की श्रंखला के निर्माण के माध्यम से से ही लेजर को बनाया गया है लेजर का इस्तेमाल कहां कहां पर किया जाता है वह निम्नलिखित में नीचे दिया गया है जैसे - 


LASER का प्रयोग :

    1. बता दे की LASER इलेक्ट्रॉनिक उपकरण का प्रयोग ऑप्टिकल डिस्क ड्राइव और इसके इलावा लेजर प्रिंटर, बारकोड स्कैनर और वह डीएनए अनुक्रमण उपकरण और इसके अतिरिक्त फाइबर-ऑप्टिक, सेमीकंडक्टिंग चिप और निर्माण (फोटोलिथोग्राफी) मै और फ्री-स्पेस ऑप्टिकल के संचार मै लेजर को सर्जरी और त्वचा उपचार करने लिए और या काटने के लिए और वेल्डिंग सामग्री और वह सैन्य और कानून इत्यादि के लिए लेजर का इस्तेमाल किया जाता है।
    2. सबसे पहले LASER का प्रयोग या इस्तेमाल यह तकनीकी क्षेत्र मैं वह लेसर बीम का इस्तेमाल स्टील की अन्य तरह चादरों को काटने के लिए और इसके साथ मै वह अत्यन्त कठोर पदार्थों में छेद करने के लिए किया जाता है।
    3. और इसके बाद LASER के माध्यम से से हीरे में छिद्र करके के लिए और वह इसके साथ वह अत्यन्त पतले तार भी खींचे जाते हैं और वह जिनका इस्तेमाल केबिल्स में ही किया जाता है और वह लेजर बहुत सारी धातुओं की छड़ों को अपने प्रकाश गर्मी से उन्हें पिघलाकर जोड़ा जा सकता है और इसको लेजर वेल्डिंग भी कहा जाता है।
    4. और इसके बाद LASER का प्रयोग चिकित्सा विज्ञान के क्षेत्र में लेसर का इस्तेमाल सूक्ष्म शल्य क्रिया (micro-surgery) में भी किया जाता है और वह जैसे की वह कॉर्निया ग्राफ्टिग (cornea grafting) में होता है और बता दे की यह साधारण प्रकाश से इस प्रक्रिया में इसको लगभग आधे सेकंड का समय लगता है और वह जबकि लेसर उसे से केवल 10^-4 सेकण्ड ही कर देती है इसलिए ब्लेजर का इस्तेमाल चिकित्सा विज्ञान में किया जाता है।
    5. और बता दे की लेजर का प्रयोग किडनी की पथरी और इसके साथ इंसान ने कैंसर ट्यूमर जैसे बीमारियों के इलाज या उपचार के लिए और इसके साथ में तथा मस्तिष्क के ऑपरेशन में सूक्ष्म रक्त पिण्डों को काटने में लेजर इलेक्ट्रॉनिक उपकरण का इस्तेमाल किया जाता हैं।
    6. और इसके बाद laser इलेक्ट्रॉनिक उपकरण का इस्तेमाल युद्ध के क्षेत्र में इस्तेमाल शत्रु के प्रक्षेपास्त्रों का अच्छी तरह पता लगाने तथा उन्हें नष्ट करने में किया जाता है और वह वर्तमान समय में अब लेसर-राइफल, लेसर-पिस्टल तथा लेसर-बम भी जैसे हथियार बनने लगे हैं और वह इनकी मदद से रात में भी शत्रु को आसानी से देखा जा सकता है और यह अंतरिक्ष में लेसर का प्रयोग रॉकेट और इसके साथ मै उपग्रहों को नियन्त्रित करने के लिए और इसके इलावा तथा दिशात्मक रेडियो संचार में लेजर का इस्तेमाल किया जाता है और यह बहुत महत्वपूर्ण होता है।
    7. बता दे की लेजर का इस्तेमाल वह विज्ञान तथा अनुसंधान के कामों के लिए इसका उपयोग माइकेल्सन-मोरले में किया जाता है और वह की जिससे महान साइंटिस्ट आइंस्टाइन का सापेक्षिकता सिद्धान्त भी सिद्ध होता हैं और वह इसकी मदद से प्लाज्मा का ताप तथा इलेक्ट्रॉन का घनत्व आदि का आसानी से ज्ञात किया जा सकता है और वह उसके साथ मै लेसर-टॉर्च से बहुत दूर की वस्तुओं को देखा जा सकता है और यह बहुत महत्वपूर्ण होता है।
    8. और इस लेजर यह इसका उपयोग फोटोग्राफ में लेसर की मदद से त्रिविमी फोटोग्राफी अर्थात् होलोग्राफी की जाती है और इसका इस्तेमाल किया जाता है। 
    9. बता दे की लेजर का इस्तेमाल संलयन रिऐक्टर में लेसर प्रकाश की किरणों द्वारा अति उच्च गर्मी का उत्पादन किया जाता है इसीलिए इसका इस्तेमाल किया जाता है।
    10. और इसके साथ मै लेजर का इस्तेमाल बहुत लंबी ज्यादा दूरियाँ को नापने में लेसर प्रकाश किरणों का इस्तेमाल किया जाता है और वह क्योंकि Laser किरणें या और समान्तर होती हैं और यह पृथ्वी से चन्द्रमा को दूरी इसी लेजर तकनीक से नापी गई है और यह बहुत सटीक सही जानकारी होती है।


LASER की क्या क्या विशेषताएं होती हैं?

LASER यह एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है जो प्रकाश की किरणों का उत्पादन करता है और उससे प्रकाश को सीधी एक रेखा बिंदु पर केंद्रित करता है लेजर की कुछ महत्वपूर्ण विशेषताएं निम्नलिखित में नीचे दी गई है जैसे -


लेजर की विशेषताएं :

  1. बता दे की LASER की विशेषता किरणें पूर्णत या कला-सम्बद्ध [ perfectly coherent ] की होती हैं और वह इस को यंग के व्यतिकरण मै लेसर के प्रकाश इस्तेमाल करके उसको प्रदर्शित किया जा सकता है और वह यदि किसी भी यंग की दुहरी स्लिट को लेजर के सामने रखेंगे वह तो उसका व्यतिकरण प्रतिरूप जरूर दिखाई देता है और वह फिर प्रतिरूप में फिन्जों की चौड़ाई बहुत कम होती जाती है।
  2. LASER की एक और सबसे बड़ी विशेषता ये एकवर्णी [ monochromatic ] होती हैं।
  3. और उसके साथ लेसर प्रकाश की किरणें दिशात्मक होती हैं और वह अत मै इनका प्रकाश किरण-पुंज बहुत ही संकीर्ण (narrow) होता है यह इसकी विशेषताओं में एक विशेषता है।
  4. उसके इलावा बता दे की यह लेजर की यह प्रकाश की किरणें बिना कभी अवशोषित हुए भी यह ज्यादा दूरी तक आसानी से जा सकती है और यह जल में इनका अवशोषण नहीं होता यह बहुत अच्छी बात है।
  5. और उसके साथ यह लेसर का प्रकाश बहुत ही तीव्र या (intense) होता है और इसको लेसर का प्रकाश के इस्तेमाल से सभी तरह की रमन रेखाएँ (Raman lines) आँखों के द्वारा बहुत आसानी से देखी जा सकती हैं।
  6. और यह लेजर की प्रकाश की यह किरणे कुछ क्षण भर में ही हर कठोर से कठोर धातु को अपने प्रकाश की गर्मी से पिघलाकर वाष्पीकृत कर देती हैं यह लेजर की सबसे बड़ी विशेषता है।
  7. और इसके इलावा यह लेसर प्रकाश के रंग को आसानी से बदला जा सकता है अर्थात बदल सकते हैं जैसे आप जब Red Color के Laser प्रकाश को किसी भी क्वार्ट्स क्रिस्टल की अन्य पट्टियों से गुजारा जाता है और वह तो निकलने वाले Laser प्रकाश का रंग बदल जाता है यह भी एक बड़ी लेजर की विशेषता है।


LASER कितने प्रकार के होते हैं | What are the types of lasers?

LASER यह एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण होता है जो खुद प्रकाश का उत्पादन करता है और लेजर 6 प्रकार के होते हैं और वह सभी प्रकार निम्नलिखित में नीचे दिए गए हैं जैसे - 


TYPES OF LASERS : 

  1. SOLID-STATE LASER
  2. GAS LASER
  3. LIQUID LASER
  4. SEMICONDUCTOR LASER
  5. CHEMICAL LASER
  6. AXIOM LASER


SOLID-STATE LASER

हम आप को बता दे की यह सॉलिड-स्टेट LASER वह लेज़र होते है वह जिसका सक्रिय माध्यम यह आम तौर पर सॉलिड-स्टेट होस्ट में वह अल्पसंख्यक आयन होता है और यह मेजबान अक्सर एक ही एकल का क्रिस्टल होता है।

और वह जिसमें विभिन्न तरह की प्रजातियों का लगभग 1% होता है और वह जैसे कि नियोडिमियम आयन या (एनडी 3+) मेजबान के सबसे ठोस मैट्रिक्स में इसको डोप किया जाता है और यह बहुत महत्वपूर्ण होता है।


GAS LASER

हम आपको बता दें कि गैस LASER से लेकर वह लेजर होते हैं वह जो गैस लेजर में एक हीलियम और नियोन का एक मिश्रण होता है और वह इस मिश्रण को एक किसी ग्लास ट्यूब में पैक कर दिया जाता है और वह गैस लेजर सक्रिय के माध्यम के रूप में ही काम करता है।

और वह इसको Argon या Krypton or Xenon को इसके रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं और वह इससे CO2 और Nitrogen Laser भी आसानी से बनाया जा सकता है यह सबसे बेहतरीन होता है।


LIQUID LASER

बता दें कि इसको लिक्विड लेजर या तरल LASER भी कहा जाता है यह तरल लेजर को (Organic) घोल से वह जैसे Rhodamine 6G को लिक्विड के घोल में या फिर Suspension को Glass Tube के अंदर तक सक्रिय माध्यम के रूप में इस्तेमाल किया जाता है यह बहुत महत्वपूर्ण होता है।


SEMICONDUCTOR LASER

यह भी एक लेज़र होता है जिसको सेमीकंडक्टर लेजर के नाम से जाना जाता है और यह सेमीकंडक्टर लेजर इसमें Junction Diode का प्रयोग किया जाता है और वह एक सेमीकंडक्टर स्वीकृतकर्ताओं और इसके साथ मै दाताओं यह दोनों के द्वारा ही Dope किया जा सकता है।

और वह इसको Injection Laser Diode के नाम से भी में जाना जाता है और वह जब भी इसमें Current पास होता है और वह इसके Output पर लाइट देखी जा सकती है और यह बहुत महत्वपूर्ण कार्य करता है।


CHEMICAL LASER

यह एक रसायनिक प्लेजर या जिसको केमिकल ले फिर भी कहा जाता है और यह एक रासायनिक लेजर है और यह रासायनिक प्रतिक्रिया के द्वारा ही अपनी ऊर्जा को प्राप्त करता है और इसको हम उदाहरण से समझते हैं।

जैसे: Chemical oxygen Iodine Laser (COIL) और इसके साथ में वह सभी Gas Phase Iodine Laser (AGIL) है और Hydrogen Fluoride Laser भी इसके साथ Deuterium Fluoride Laser इत्यादि शामिल होते हैं।


AXIOM LASER

यह एक एक्सिसिम लेजर होता है और यह अभिगृहीत मै 532 एक और नई वास्तुकला में एक सबसे बड़ा शक्ति वाला सीडब्ल्यू लेजर होता है और बता दे की यह वह जिसमें लेजर के हेड के भीतर मै वह सभी सक्रिय प्रकाशिकी भी शामिल होते हैं।

और इसके साथ मै वह 12 W तक के बिजली के पावर स्तर को और 0.02% से कम RMS की पेशकश करते है और यह अभिगृहीत 532 अल्ट्राफास्ट लेजर या और सेमीकंडक्टर के काफी उद्योगों में एकीकरण के लिए अत्यधिक उपयुक्त होता है और यह बहुत महत्वपूर्ण लेजर होता है और जो बहुत बेहतरीन कार्य करता हैं।


LASER क्यों बनाया गया है | why is laser created?

बता दे की यह एक लेज़र को तब बनाया जाता है और वह जब किसी विशेष ग्लास और क्रिस्टल या गैसों में वह सभी परमाणुओं में इलेक्ट्रॉन विद्युत मै प्रवाह या किसी भी अन्य लेजर से किसी भी ऊर्जा को अवशोषित करते हैं।

वह "उत्साहित" हो जाते हैं और इससे वह उत्तेजित इलेक्ट्रॉन परमाणु के नाभिक के 4 ओर से एक निम्न-ऊर्जा कक्षा से उच्च-ऊर्जा कक्षा में आसानी से प्रवेश हो जाते हैं और वह इसका दूसरा भी लेजर का प्रकाश दिशात्मक होता है।


LASER के क्या क्या फायदे होते है | What are the advantages of laser?

लेजर के बहुत सारे फायदे होते हैं और उनमें से कुछ महत्वपूर्ण फायदे या एडवांटेज निम्नलिखित में नीचे दिए गए हैं जैसे - 


ADVANTAGES OF LASER :

  1. हम आप को बता दे की यह लेजर एक गैर-संपर्क प्रक्रिया होती है और यह लेज़र का इस्तेमाल करने वाली कोई भी प्रक्रिया से वह एक गैर-संपर्क प्रक्रिया ही होती है और बता देे की जिसका अर्थ यह होता है वह लेज़र बीम भौतिक रूप से उस सामग्री के साथ मै कार्य नहीं कर रही है और वह जिस पर इसे निर्देशित किया गया होता है।
  2. लेजर का सबसे बड़ा फायदा यह है कि लेजर वह किसी भी तरह सामग्री को दूर नहीं करता है यह बहुत अच्छा है।
  3. और लेजर यह एक बहुत ही सटीक अंकन करता है और उसके साथ मै उच्च गुणवत्ता।
  4. और लेजर यह बहुत बड़ी सामग्री की एक श्रृंखला के साथ मै अपना काम करता है और यह बहुत बड़ा लाभ होता हैं।


LASER के क्या क्या नुकसान हैं | What are the disadvantages of laser?

LASER के फायदे भी होते हैं परंतु इन फायदों के साथ-साथ लेजर के कुछ नुकसान या डिसएडवांटेज भी होते हैं और वह सभी नुकसान निम्नलिखित में नीचे दिए गए हैं जैसे - 


DISADVANTAGES OF LASER :

  1. LASER का सबसे बड़ा डिसएडवांटेज यह होता है कि यह लेजर अन्य तकनीकों की तुलना में लेजर कटिंग में बहुत ज्यादा बिजली की खपत की आवश्यकता होती है और यह एक नुकसान है।
  2. और इसके अतिरिक्त लेजर बीम को संभालना बहुत ही नाजुक होता है यह कार्य बहुत ध्यान से करना पड़ता है।
  3. और वह एक मानव शारीर श्रमिकों के संपर्क में आने पर लेजर बीम हानिकारक होती है अर्थात ऐसे व्यक्ति को बहुत नुकसान हो सकता है।
  4. और इसके साथ वह लेजर कटिंग अभी भी मोटी धातुओं को काटने में सक्षम नहीं है यह केवल ब्रीक धातुओं को काट सकती है और यह भी एक डिसएडवांटेज होता है।
laser full form
laser-full-form

LASER के मुख्य भाग क्या होते है | What are the main parts of laser?

दोस्तो यदि आप नहीं जानते तो बता दे की यह एक लेज़र का निर्माण तीन प्रमुख भागों से किया जाता है और तीन भाग कुछ इस प्रकार है जैसे - 


PARTS OF LASER :

  1. सबसे पहला यह एक ऊर्जा स्रोत होता है और वह को (आमतौर पर पंप या पंप स्रोत के रूप में जाना जाता है)
  2. और इसके अतिरिक्त यह एक लाभ माध्यम या लेजर माध्यम है।
  3. और वह जो दो या दो से ज्यादा के दर्पण जो एक ऑप्टिकल गुंजयमान यंत्र बनाते हैं और यह बहुत महत्वपूर्ण पार्ट होता है।


LASER खतरनाक क्यों होते हैं | Why are lasers dangerous?

LASER इतने खतरनाक इसलिए होते हैं क्योंकि वह अनुचित तरीके से इस्तेमाल किए जाने वाले लेजर या उपकरण संभावित के रूप से ज्यादा खतरनाक होते हैं और वह मानव के शरीर त्वचा की हल्की जलन से लेकर त्वचा और इसके साथ मै वह आंख को अपरिवर्तनीय चोट तक के प्रभाव हो सकते हैं।

और इसके अतिरिक्त वह लेजर के कारण होने वाली सभी तरह से जैविक क्षति थर्मल, ध्वनिक और फोटोकैमिकल प्रक्रियाओं के माध्यम से ही उत्पन्न होती है इसलिए लेजर इतने खतरनाक होते हैं।


हरे रंग के LASER आगे क्यों जाते हैं | Why do green lasers go further?

इस बात पर हम आपको बता दें कि वह हमारी आंखों की संवेदनशीलता हरे रंग की रोशनी की तरंग दैर्ध्य के बहुत ही आसपास होती है और वह एक प्रकाश के प्रकीर्णन का अर्थ यह होता है कि आपको एक किरण मिलती है।

और वह जो आकाश में ऊँची दिखाई देती है और वह यह इस धारणा को मजबूत करता है और वह हरे रंग के लेजर लाल रंग की तुलना में काफी ज्यादा शक्तिशाली होता है और इसीलिए हरे रंग के लेजर आगे जाते हैं।


पीले LASER इतने महंगे क्यों हैं | Why are yellow lasers so expensive?

बता दे की यह पीले रंग के LASER पॉइंटर बहुत महंगे होते हैं वह क्योंकि यह अत्याधुनिक लेज़र तकनीक का ही इस्तेमाल करके बनाए गए होते है और जो सबसे उच्च गुणवत्ता वाले घटकों से बने हुए होते हैं और यह बहुत कम शक्ति का प्रयोग एक पीला लेजर बनाने के लिए एक बहुत ही उच्च।

शक्ति के डायोड की आवश्यकता होती है और यह एक पीला लेजर सूचक एक अद्वितीय और गर्म बीम का उत्सर्जन करता है और यह बहुत महत्वपूर्ण होता इसलिए जो है ज्यादा महंगे होते हैं।
laser full form
laser-full-form

कौन सा रंग का LASER सबसे खतरनाक होता हैं | Which color laser is most dangerous?

अगर हम LASER के सबसे खतरनाक रंग की बात करें तो सबसे पहले आप यह जान लें की हरे रंग को एक मानव आंख से बहुत आसानी से देखा जा सकता है और वह इसके रास्ते में प्रकाश किरण दिखाई दे रही है और वह लेकिन हरे रंग के लेजर भी सबसे ज्यादा खतरनाक होते हैं।

और वह क्युकी हरे रंग को लाल की तुलना में रेटिना द्वारा बहुत आसानी से अवशोषित किया जा सकता है और तो वह इसलिए इसे नुकसान पहुंचाने के लिए कम जोखिम की आवश्यकता होती है इसीलिए हरे रंग के LASER सबसे ज्यादा खतरनाक माने जाते हैं।


LASER का उद्देश्य क्या है | What is the purpose of a laser?

LASER का महत्वपूर्ण उद्देश्य यह है कि लेजर का उपयोग कई सर्जिकल प्रक्रियाओं जैसे कि लैसिक नेत्र शल्य चिकित्सा में भी किया जाता है और साथ ही यह निर्माण में यह लेजर का इस्तेमाल सामग्री को वह एक विस्तृत श्रृंखला को काटने के लिए और उत्कीर्णन, ड्रिलिंग और चिह्नित करने के लिए ही लेजर का प्रयोग किया जाता है।

और इसके लेजर तकनीक के लिए निम्नलिखित सहित कई अनुप्रयोग हैं लेजर रेंज फाइंडिंग है जिसका कार्य लेजर की सहायता से पूरा होता है इसीलिए नजर बहुत बेहतरीन कार्य करता है लेजर का उद्देश्य किसी भी कार्य के संदर्भ में सहायता प्रदान करना है।

दोस्तों मुझे उम्मीद है कि LASER का full form क्या होता है और इसके अतिरिक्त LASER की विषय के बारे में उपरोक्त सारी जानकारी आपको अच्छे से प्राप्त हो गई होगी और इस जानकारी से सीखने को भी जरूर मिला होगा यदि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी है।

और इसे जानकारी से आपको सीखने को मिला है तो कृपया आप हमें कमेंट के माध्यम से कमेंट करके जरूर बताएं क्योंकि आपका एक-एक कमेंट हमारे लिए बहुमूल्य है कृपया कमेंट जरूर करें और पोस्ट पर शुरू से लेकर अंत तक लगातार पढ़ते रहने के लिए आपका दिल से धन्यवाद।


दोस्तों यह laser full form पोस्ट अगर आपको हमारी जानकारी अच्छी लगी है तो आप कॉमेंट करके हमें जरूर बताएं और इसे अपने दोस्तो के साथ शेयर जरूर करें और आप हमें फ़ॉलो करना बिलकुल ना भूलें आप हमें फ़ॉलो जरूर करें।Thanks!

No comments:

Post a Comment