hindiallnews

lifestyle/myth news, lovelife news, tech news, lifestyle news, health news, all news, jokes, news, jobs news, health tips,

Tuesday, May 25, 2021

/ BCC क्या हैं?BCC का फुल फॉर्म क्या होता हैं? | bcc full form | bcc full form in hindi

BCC क्या हैं?BCC का फुल फॉर्म क्या होता हैं? | bcc full form | bcc full form in hindi

BCC का फुल फॉर्म क्या होता हैं जानें? 

bcc full form
bcc-full-form


bcc full form क्या होता हैं?


दोस्तों बहुत-बहुत स्वागत है आपका हमारी एक और नई शानदार और इंटरेस्टिंग पोस्ट में दोस्तों यदि आप ईमेल का इस्तेमाल करते हैं तो ईमेल भेजते समय आपने BCC और CC जरूर देखा होगा परंतु क्या आप जानते हैं BCC क्या होता है और सीसी क्या है इसके अतिरिक्त बीसीसी का क्या होता है।


और bcc full form हिंदी और इंग्लिश भाषा में क्या होता है यदि आप नहीं जानते हैं तो घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है आज की इस पोस्ट में हम आपको email या gmail में BCC और सीसी के विषय के बारे में आज तक और संपूर्ण जानकारी देने वाले हैं आज की पोस्ट बहुत ही इंटरेस्टिंग और खास होने वाली है।


क्योंकि हम आपको BCC के विषय के बारे में बहुत ही सरल और आसान शब्दों का प्रयोग कर बताने वाले हैं आज की इस पोस्ट से आपको सीखने को जरूर मिलेगा तो चलिए बिना किसी देरी के आज की इस पोस्ट को शुरू करते हैं।



BCC क्या है | what bcc stands for?


BCC ई-मेल में एक फंक्शन होता है बीसीसी का पूरा नाम | Blind Carbon Copy | होता है जब कभी आप बहुत सारे या अन्य लोगों के पास कोई भी email भेजते हैं तो साथ ही आप यह चाहते हैं कि उनको किसी को भी ईमेल लिस्ट का बिल्कुल पता ना चले अर्थात किस-किस को आपने ईमेल सेंड किया है।


यह उन को आपस में कभी पता ना चले तो उस परिस्थिति में ईमेल के बी सी सी फंक्शन का इस्तेमाल किया जाता है जिस से ईमेल बीसीसी लिस्ट में रिप्लाई छुप जाता है इस तरह या परिस्थिति में मेल के इस महत्वपूर्ण फंक्शन जिसको BCC कहा जाता है उसका इस्तेमाल किया जाता है।


इसका इस्तेमाल रिप्लाई लिस्ट छुपाने के माध्यम से ही करते हैं क्योंकि बीसीसी फंक्शन की वजह से ईमेल करने में प्राइवेसी बनी रहती है क्योंकि टाइम ऐसी सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण और इंपॉर्टेंट होती है।



CC क्या है | what is cc?


CC यह email में प्रयोग किया जाने वाला एक फंक्शन होता है और जिसका पूरा नाम | Carbon Copy | होता है और ईमेल में किसी को मेल करते  समय सबसे पहला (TO) नज़र आता है और उसके नीचे यह 2 फंक्शन नजर आते हैं पहला (CC) सीसी  होता है और दूसरा (BCC) बीसीसी होता है और हम आपको बता दे की सीसी (CC) को Carbon Copy इसीलिए भी कहा जाता है।


क्योंकि यह इसका Use बहुत से व्यक्तियों को एक ही ई-मेल की Copy भेजने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है और वह किसी भी कंपनी में जब बहुत से लोग या कर्मचारी अपना कार्य कर रहे होते हैं और एक कंपनी को एक ही ईमेल एक साथ कई इंप्लॉई या कर्मचारियों को ईमेल भेजना होता है।


और तो वह कंपनी ई-मेल में Cc फंक्शन का इस्तेमाल करती है हम आपको ईमेल में सीसी फंक्शन का एक उदाहरण देकर अच्छे से समझाने की कोशिश करते हैं जैसे मान लीजिए कंपनी अपने किसी एक कार्य की फाईल बहुत से कर्मचारियों या एम्पलाई को भेजती है।


और इसके साथ ही वह कंपनी के मालिक को भी यह ई-मेल भेजकर यह बताना चाहती है वह ई-मेल किन-किन लोगों को भेजी गई है और वह कंपनी Cc फंक्शन का इस्तेमाल करती है और इसके साथ यह कंपनी Cc में कंपनी के मालिक की ईमेल आईडी के साथ वह सभी Employs यहां कर्मचारियों की ईमेल आईडी को डालकर ईमेल को Send कर देती है।


या भेज देती है और बता दे की इससे कर्मचारियों को और कंपनी के मालिक को एक ही समय पर ईमेल चला जाता है और बॉस के साथ सभी कर्मचारियों को भी पता होता है कि ईमेल किस-किसको गया है अर्थात इमेज किस-किस को भेजा गया है।


और इसी की वजह से यह पता चल जाता है कि email और किन-किन लोगों को भेजा गया है और बीसीसी की वजह से यह सभी प्राइवेसी बनी रहती है।


bcc full form
bcc-full-form


BCC का फुल फॉर्म क्या होता हैं | full form of bcc?


BCC का फुल फॉर्म | Blind Carbon Copy | होता है बीसीसी ईमेल मैं प्राइवेसी छुपाने का एक फंक्शन होता है साधारण शब्दों में BCC का मतलब "ब्लाइंड कार्बन कॉपी" होता है और यह CC के विपरीत होता है और प्रेषक के अलावा कोई भी BCC प्राप्तकर्ताओं की सूची नहीं देख सकता है।


और जैसे उदाहरण के लिए यदि आपके पास बीसीसी की सूची में bob@example.com और jake@example.com है तो ना तो बॉब और ना ही जेक को यह पता चलेगा कि वह दूसरे को email प्राप्त हुआ है अर्थात एसईसी रिप्लाई लिस्ट को छुपा देता है जिससे प्राइवेसी बनी रहती है।


और प्राइवेसी के लिए ही बीसीसी फंक्शन का इस्तेमाल ईमेल करते समय किया जाता है यह सबसे महत्वपूर्ण फंक्शन होता है जिसका इस्तेमाल सभी प्राइवेसी के लिए करते हैं।


दोस्तों अब हमने bcc ka full form kya hai यह अच्छे से यह जान लिया है चलिए अब आगे बढ़ते हैं और BCC के बारे में इससे भी अधिक जानकारी अच्छे से प्राप्त कर लेते हैं।



बीसीसी का फुल फॉर्म हिंदी मैं | bcc full form in hindi | 


बीसीसी का फुल फॉर्म हिंदी में | ब्लाइंड कार्बन कॉपी | होता है और इसको शुद्ध हिंदी भाषा में | अंधी प्रतिलिपि | कहा जाता है अर्थात (BCC) गुप्त प्रतिलिपि या "ब्लाइंड कार्बन कॉपी," होता है यह आपको एक ई-मेल में कई प्राप्तकर्ता जोड़ने की बेहतरीन सुविधा देता हैं।


और दूसरे शब्दों में कहें तो यह आपको एक साथ कई लोगों या व्यक्तियों को एक email भेजने की बेहतरीन सुविधा देता है और बता दे की यह हालांकि जब वह ईमेल प्राप्त करते हैं।


बी - ब्लाइंड

सी - कार्बन

सी - कॉपी

 

और तो इन गुप्त प्रतिलिपि (BCC) प्राप्तकर्ताओं में से किसी को भी यह पता नहीं चलेगा (BCC) गुप्त प्रतिलिपि के माध्यम से ईमेल किसने प्राप्त किया था इससे प्राइवेसी बनी रहती है और इसके माध्यम से ईमेल किसने प्राप्त किया है यह पता नहीं चलता BCC की वजह से इसको छुपाया जाता है।


दोस्तों अभी हमने bcc का full form in Hindi भाषा में क्या होता है यह भी जान लिया हमें चलिए अब आगे बढ़ते हैं और BCC के विषय के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त कर लेते हैं।



BCC का फुल फॉर्म इंग्लिश मैं | bcc full form in English | 


BCC का फुल फॉर्म इंग्लिश में | Blind Carbon Copy | होता है बीसीसी ई-मेल में दीया बेहतरीन फीचर होता है यह फीचर ईमेल का बेहतरीन फीचर है इसलिए होता है क्योंकि यह एक ईमेल को कई सारे लोगों या व्यक्तियों को भेजने की सुविधा देता है।


और जब वह सारे लोग या व्यक्ति जिनको email भेजा जाता है उनको वह इमेल प्राप्त होता है तब BCC की वजह से प्राप्तकर्ताओं में से किसी को भी यह पता नहीं चलता है।


B - Blind

C - Carbon

C - Copy

 

कि यह ईमेल किस किस ने प्राप्त किया था और इस तरह से ईमेल लिस्ट को छुपाया जाता है जिससे दूसरे व्यक्तियों को यह पता नहीं चलता है कि यह इमेज और किस किसको प्राप्त हुआ है और इससे email की प्राइवेसी बन जाती है और किसी को नहीं पता चलता है और इसलिए BCC का इस्तेमाल किया जाता है।


दोस्तों अब हमने इंग्लिश भाषा में bcc full form क्या होता हैं इसको अच्छे से जान लिया है चलिए अब BCC के विषय के बारे में इससे भी अधिक जानकारी ज्ञात कर लेते हैं।



EMAIL में BCC और CC क्या होता है | What is BCC and CC in email?


जैसा की हमने पहले जाना है की यह CC ईमेल में फ़ील्ड | कार्बन कॉपी | Carbon Copy | के लिए है और जबकि BCC | फ़ील्ड ब्लाइंड कार्बन | Blind Carbon Copy | कॉपी के लिए होता है यह दोनों ई-मेल में BCC और सीसी फीचर होते हैं और सीसी फीचर में एक ईमेल बहुत सारे व्यक्तियों को भेजा जाता है और सीसी में कोई प्राइवेसी नहीं होती है।


इससे यह पता चल जाता है कि ईमेल और किस-किस को प्राप्त हुआ है जबकि इसके विपरीत बीसीसी एक ईमेल सभी लोगों या व्यक्तियों को आसानी से भेजा जाता है परंतु इसमें ईमेल लिस्ट छुपाई जा सकती है कि दूसरे व्यक्तियों को यह पता नहीं चलेगा कि यह email और किसको प्राप्त हुआ है।


और इस तरह से बीसीसी की सहायता से प्राइवेसी कायम रखी जाती है इसलिए यह दोनों फीचर होते हैं एक (BCC) प्राइवेसी के लिए एक बिना (CC) प्राइवेसी के लिए होता हैं।



CC का प्रयोग कब किया जाता है | what is Use of cc?


आप को हम बता दे की सीसी (CC) का इस्तेमाल तब किया जाता है जब कभी आप बहुत से व्यक्तियों को एक ही ई-मेल भेजना चाहते है और यह साथ ही आप यह भी चाहते हैं उन सभी लोगों को यह कभी पता चले कि आपने किन-किन व्यक्तियों को यह ई-मेल सेंड किया है या भेजा है।


और बता दे की कुछ इस तरह से यह सब लोगों को एक ही समय पर एक ही जैसा ई-मेल मिल जाएगा या प्राप्त होगा और साथ ही यह बाकी सभी के ईमेल एड्रेस भी नजर आ जाएंगे जिनको एक जैसा ही ईमेल भेजा गया होगा या सेंड किया गया होगा कुछ इस तरह से सीसी फीचर का इस्तेमाल किया जाता है यह एक बेहतरीन ईमेल का फीचर होता है।

bcc full form
bcc-full-form


क्या सभी BCC का जवाब दे सकते हैं | Can you reply all BCC?


हम आप को बता दे की नहीं सभी उत्तर नहीं दें सकते है वह सभी केवल हेडर में ई-मेल के साथ भेजे गए ई-मेल पतों का उत्तर देने में सक्षम होंगे और उसके साथ ई-मेल हेडर में प्राप्तकर्ता को BCC पते कभी नहीं भेजे जाते हैं  बीसीसी इस तरह से कार्य करता है।



जब आप किसी BCC EMAIL का उत्तर देते हैं तो क्या होता है | What happens when you reply to a BCC email?


हम बता दे की जब आप BCC मै प्राप्तकर्ता संदेश प्राप्त करेंगे तो लेकिन बीसीसी फ़ील्ड में सूचीबद्ध पते नहीं देख पाएंगे और उसके पते जो बीसीसी क्षेत्र में रखे गए हैं वह अग्रेषित नहीं किए जाते हैं और इसके बाद यदि आपने प्रति या सीसी क्षेत्र में प्राप्तकर्ताओं की एक बड़ी सूची रखी है और तो उन सभी को उत्तर आपको प्राप्त होगा यह बहुत महत्वपूर्ण होता हैं।



EMAIL में BCC का उपयोग कैसे कर सकते हैं | How do I use BCC in email?


यदि आप अपने मोबाइल डिवाइस में BCC का इस्तेमाल या प्रयोग करना चाहते हैं तो आप बहुत आसानी से कर सकते हैं।


1. उसके लिए आप अपने iPhone या Android डिवाइस पर Outlook App में एक नया रिक्त ई-मेल (email) को खोलें और उसके बाद जब एक "नया संदेश" विंडो प्रकट होती है 


2. और तो आउटलुक अंतरिक्ष को बचाने के लिए CC और BCC लाइनों को जोड़ता है और "प्रतिलिपि/गुप्त प्रति"Cc/Bcc पर टैप करें और फ़ील्ड स्वचालित रूप से विस्तृत होनी चाहिए और उसके बाद आप किसी को भी ईमेल भेज सकते है।



क्या केवल BCC के साथ EMAIL भेज सकते हैं | Can you send an email with only BCC?


बता दे की आप "ToorCc" फ़ील्ड में अपनी पसंद या मर्जी का कोई भी पता "गुप्त प्रति" या (Bcc) फ़ील्ड में डाल सकते हैं और आप बस यह याद रखें कि "गुप्त प्रति"(Bcc) फ़ील्ड में केवल पते प्राप्तकर्ताओं से छिपे हुए हैं और आप “To” or “Cc" फ़ील्ड को भी खाली छोड़ सकते हैं और केवल "Bcc" फ़ील्ड में पते पर संदेश भेज आसानी से भेज सकते है।



BCC प्राप्तकर्ताओं को कैसे पुनःप्राप्त कर सकते है | How do I retrieve BCC recipients?


आप बहुत आसानी से BCC प्राप्तकर्ताओं प्राप्त कर सकते है BCC प्राप्तकर्ताओं (recipients) को प्राप्त कर सकते हैं बीसीसी प्राप्त करने के लिए नीचे दिए गए स्टेप को फॉलो करें।



RETRIEVE BCC RECIPIENTS :


➨ सबसे पहले आप Bcc recipients गुप्त प्रतिलिपि प्राप्तकर्ताओं को जरूर देखें।


➨ और भेजे गए आइटम को फ़ोल्डर में आपके द्वारा भेजे गए संदेश को खोलें और देखे पठन फलक में, संदेश का शीर्ष लेख अनुभाग देखें। 


➨ और युक्तियाँ मै यदि अधिक प्राप्तकर्ता (recipients) हैं और तो आप प्राप्तकर्ताओं की संख्या और अधिक देखेंगे। स्क्रीनशॉट में तो जैसे उदाहरण के लिए 11 और सिग्नल में 11 और प्राप्तकर्ता हैं जो Bcc बॉक्स में सूचीबद्ध होती है हैं।


➨ और कुछ ऐसा प्रकार से आप BCC recipients पुणे प्राप्त बहुत आसानी से कर सकते हैं।



CC और BCC का क्या उपयोग है | What is the use of CC and BCC?


जैसा कि हमने आपको पहले भी बताया है की CC का अर्थ है | carbon copy | कार्बन कॉपी | और BCC का अर्थ है | blind carbon copy | ब्लाइंड कार्बन कॉपी | होता है और यह email करने के लिए इनका उपयोग किया जाता है और बता दे की आप CC का उपयोग तब करते हैं।


जब आप दूसरों को सार्वजनिक रूप से कॉपी करना चाहते हैं और जब आप इसे निजी तौर पर करना चाहते हैं और तब आप Bcc का उपयोग या इस्तेमाल करते हैं और ईमेल की गुप्त प्रतिलिपि पंक्ति पर कोई भी प्राप्तकर्ता ईमेल पर अन्य लोगों को दिखाई नहीं देता है और कुछ इस प्रकार CC और BCC का इस्तेमाल या प्रयोग किया जाता हैं।



यदि आप स्वयं BCC करेंगे तो क्या होगा | What happens if I BCC myself?


दोस्तों यदि आप स्वयं या खुद बीसीसी का प्रयोग करेंगे तो हम आपको बता दे की यह आसान है आप जो ईमेल भेज रहे हैं उस पर बस खुद को बीसीसी करें और आप फॉलो-अप करना चाहते/चाहती हैं और ईमेल भेजे जाने के बाद, आपको अपने इनबॉक्स में एक प्रति भी प्राप्त होगी।


और वह क्योंकि आपने स्वयं को BCC किया है और recipients अन्य प्राप्तकर्ताओं को पता नहीं चलेगा कि आप भी प्राप्तकर्ता थे तो यदि आप अपने आप को बीसीसी करेंगे तो यह आपके साथ हो सकता है।



क्या सभी को BCC कर सकते हैं | Can you BCC everyone?


जैसा की हमने यह पहले भी जाना है की BCC का अर्थ "ब्लाइंड कार्बन कॉपी" होता है और यह कई लोगों को email भेजने का एक बहुत आसान और सरल तरीका है की यह जाने बिना कि ईमेल और कौन प्राप्त कर रहा है यह गुप्त प्रतिलिपि (Bcc) फ़ील्ड में कोई भी ईमेल पता ईमेल पर अन्य सभी के लिए अदृश्य रहेगा।


और यह एक नियम के रूप में है और यदि प्राप्तकर्ताओं की संख्या 30 से अधिक होती है और तो आपको Bcc करना चाहिए अर्थात तब उस परिस्थिति में आप BCC कर सकते हैं और आपकी प्राइवेसी बनी रहती है।



कैसे जान सकते हैं कि BCC का उपयोग किया गया है | How can you tell if BCC has been used?


दोस्तों हम आपको बता दे की जैसा कि आप सभी यह जानते हैं कि प्राप्तकर्ता यह नहीं बता सकते कि आपने BCC फ़ील्ड में किसे शामिल किया है और या भले ही आपने BCC फ़ील्ड का बिल्कुल भी उपयोग किया हो और लेकिन इसका मतलब यह नहीं है।


कि आप नहीं कर सकते परंतु यह देखने के लिए कि आपने पिछले ईमेल में किसे BCC किया था या किया है यह आप बस भेजे गए मेल फ़ोल्डर को खोलें और सभी संदेश को खोलें और आप भविष्य में संदर्भ के लिए संरक्षित BCC फ़ील्ड देखेंगे और कुछ इस प्रकार से आप जान सकते हैं कि बीसीसी का उपयोग किया है या नहीं किया हैं।



BCC का उद्देश्य क्या है | What is the purpose of BCC?


आप को हम बता दे की यह BCC जो ब्लाइंड कार्बन कॉपी के लिए खड़ा है और यह आपको email संदेशों में प्राप्तकर्ताओं को छिपाने की अनुमति देता है या प्राइवेसी देता है बीसीसी का उद्देश्य सही और सुरक्षित तरीके से आपके द्वारा भेजे गए ईमेल को पहुंचाना है और आपकी प्राइवेसी को सुरक्षित रखना है।


और यह To: फ़ील्ड और CC: (कार्बन कॉपी) फ़ील्ड में पते संदेशों में दिखाई देते हैं और लेकिन उपयोगकर्ता आपके द्वारा BCC फ़ील्ड में शामिल किए गए किसी भी व्यक्ति के पते नहीं देख सकते हैं कुछ इस प्रकार से बीसीसी का इस्तेमाल या प्रयोग किया जाता है।

bcc full form
bcc-full-form


क्या BCC सुरक्षित हैं | BCC secure?


ई-मेल में BCC पूरी तरह से 100% सुरक्षित होती है यह आपकी प्राइवेसी को दूसरों को नहीं बताता है और यह यदि कोई गुप्त प्रतिलिपि फ़ील्ड में है और यह तो अन्य प्राप्तकर्ताओं में से किसी को भी पता नहीं चलेगा और यदि कोई "प्रति" या "प्रतिलिपि" प्राप्तकर्ता " या To" or "Cc" recipient सभी को उत्तर दें" का चयन करता है।


और तो (Bcc) गुप्ता प्रतिलिपि प्राप्तकर्ताओं को उजागर नहीं किया जाएगा यह एक बहुत सुरक्षित तरीका यह हो सकता है कि आप अपने भेजे गए संदेश को इच्छित "Bcc" प्राप्तकर्ता को अग्रेषित जरूर करें और इसलिए यदि वह उत्तर देते हैं।


और तो यह केवल आपके पास जाता है जिससे यह होता है कि आपकी प्राइवेसी पूरी तरह से सुरक्षित हो जाती है और यह एक बहुत ही आसान और सरल तरीका है।


दोस्तों मुझे उम्मीद है कि BCC का full form क्या होता है इसके अतिरिक्त BCC के विषय के बारे में आपको सारी जानकारी अच्छे से प्राप्त हो गई होगी और इस जानकारी से आपको सीखने को जरूर मिला होगा यदि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी है।


और इस जानकारी से आपको सीखने को मिला है तो कृपया आप हमें कमेंट के माध्यम से कमेंट करके जरूर बताएं क्योंकि आपका एक एक कमेंट हमारे लिए बहुमूल्य है कृपया आप हमें कमेंट जरूर करें और पोस्ट को शुरू से लेकर अंत तक लगातार बढ़ते रहने के लिए आपका दिल से धन्यवाद।



दोस्तों यह bcc full form पोस्ट अगर आपको हमारी जानकारी अच्छी लगी है तो आप कॉमेंट करके हमें जरूर बताएं और इसे अपने दोस्तो के साथ शेयर जरूर करें और आप हमें फ़ॉलो करना बिलकुल ना भूलें आप हमें फ़ॉलो जरूर करें।Thanks!

No comments:

Post a Comment