hindiallnews

lifestyle/myth news, lovelife news, tech news, lifestyle news, health news, all news, jokes, news, jobs news, health tips,

Saturday, March 13, 2021

/ ATM का फुल फॉर्म क्या होता हैं? | atm full form | atm full form in hindi

ATM का फुल फॉर्म क्या होता हैं? | atm full form | atm full form in hindi

ATM का फुल फॉर्म क्या होता हैं जानें?

atm full form
atm-full-form


atm full form क्या होता हैं?


दोस्तों को बहुत-बहुत स्वागत है आपका हमारी एक नई पोस्ट में यदि आपका बैंक अकाउंट नंबर है अर्थात आपका खाता है तब आपके पास ATM कार्ड भी होगा और आपने अपने रोजमर्रा के कामों में एटीएम से पैसे भी निकाले होंगे तो क्या आपने कभी सोचा है कि atm full form क्या होता है लेकिन कैसे काम करता है।


एटीएम का आविष्कार किसने किया था एटीएम में कौन-कौन से पार्ट्स काम करते हैं आज हम ATM के इन्हीं सवालों के जवाब आपको देंगे और एटीएम के बारे में हर छोटी से छोटी और बड़ी से बड़ी जानकारी का खुलासा करेंगे यह पोस्ट बहुत ही इंटरेस्टिंग होने वाली है तो पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ें इस पोस्ट से आपको कुछ नया सीखने को मिलेगा और मुझे उम्मीद है।


कि इस पोस्ट को पूरा करने के बाद आप के एटीएम के बारे में सब कुछ ज्ञात हो जाएगा आपको एडमिन की हार छोटी से छोटी और महत्वपूर्ण जानकारी हम बहुत ही सरल शब्दों का उपयोग करके स्पष्ट और सटीक देंगे तो चलिए एटीएम के बारे में अच्छी तरह से जान लेते हैं।



ATM का पुरा नाम क्या होता हैं | what is atm full form |


अब हम जानते है atm ka full form क्या होता है एटीएम एक मशीन होती है जिसका पुरा नाम | Automated teller machine | होता है यह मशीन से एक कार्ड की मदद से अपने बैंक खाते से पैसे निकाले जाते है एटीएम मशीन बैंक एकाउंट से जुड़ी होती हैं।


एटीएम ने अब पैसे को निकालना बहुत ही आसान कर दिया है और कभी भी पैसे निकालने के लिए बैंकों मै बार बार जाना नहीं पड़ता है एक एटीएम कार्ड से भारत के किसी भी एटीएम से पैसे निकाले जा सकते है।


  • A: Automated
  • T: teller 
  • M: machine


ATM ने पैसे को निकालना बहुत आसान किया है अब जिसके भी पास एटीएम कार्ड होता है वह कभी भी बैंक से पैसे निकालने नहीं जाता है बल्कि बैंक मै सिर्फ पैसे जमा करवाने के लिए जाता है और पैसे एटीएम कार्ड से निकाल लेता है।


एटीएम कार्ड मै आपका खाता नंबर कार्ड के नीचे ब्लैक पट्टी मै लिखा होता है जब कभी आप एटीएम मशीन मै अपना कार्ड ड्रॉप करते है और एटीएम मशीन आप कार्ड की उस ब्लैक पट्टी से आप का खाता नंबर जान लेता है और आप को पैसे निकाल कर देता है।



ATM क्या होता हैं | what is atm |


दोस्तों एटीएम एक electronic telecommunications device Machine होती है और इस मशीन का इस्तेमाल सभी खाताधारक करते हैं और हम आपको बता दें कि 2 सितंबर सन 1969 केमिकल बैंक ने रॉकविले सेंटर न्यूयॉर्क में अपनी शाखा में अमेरिका में पहला एटीएम स्थापित किया था और जिनका बैंक में खाता होता है।


वह वह बैंक से एटीएम कार्ड लेते हैं एटीएम कार्ड इसलिए लिया जाता है कि बैंक के चक्कर काटने पड़े और किसी भी एटीएम मशीन से एटीएम कार्ड के माध्यम से पैसे निकाले जा सके एटीएम एक मशीन होती है जिसमें पैसों का आदान-प्रदान होता है एटीएम मशीन सभी बैंकों के खातों से जुड़ी होती है।


आप अपने खाते के एटीएम कार्ड से भारत के किसी भी राज्य में अपने कार्ड के माध्यम से अपने बैंक अकाउंट से है किसी भी एटीएम मशीन से पैसे निकाल सकते हैं एटीएम मशीन की वजह से अब किसी को भी बैंक से बार-बार पैसे निकालने के लिए चक्कर नहीं लगाने पड़ते हैं आप सीधा किसी भी एटीएम मशीन से अपने एटीएम कार्ड के जरिए बिना किसी टेंशन के पैसे आराम से निकाल सकते हैं।


आपको किसी की बैंक की बैंक कर्मचारियों की भी सहायता की आवश्यकता नहीं पड़ती है एटीएम मशीन आने की वजह से बैंकों का आधा काम घट गया है और अब सभी एटीएम मशीन से ही पैसे निकालते हैं बैंकों में सिर्फ पैसे जमा होने के लिए जाते हैं।

atm full form
atm-full-form


एटीएम का आविष्कार किसने किया था?


अब हम बात करते है की एटीएम को किसने बनाया था एटीएम को | जॉन शेफर्ड बैरोन | ने बनाया था एटीएम बनाकर जॉन शेफर्ड बैरोन ने दुनिया मै क्रांति ला दी एटीएम मशीन आज हर किसी को जरूरत पड़ती है पैसे निकालने के लिए आज आसानी से पैसे सिर्फ एटीएम मशीन की वजह से संभव है।


आज के एटीएम मशीन में हर एक देश में अनेक एक मशीन है इस मशीन की आने के बाद लोगों को बहुत ही मदद मिली है पहले पैसे निकलवाने के लिए बैंकों में बार बार जाना पड़ता था फॉर्म फिल करना पड़ता था परंतु एटीएम मशीन आने की वजह से किसी भी फॉर्म फिल की जरूरत नहीं पड़ती है अब एटीएम कार्ड से एटीएम मशीन से पैसे निकाले जा सकते हैं।



ATM का फुल फॉर्म हिंदी में | atm full form in hindi |


आप तो हम full form of atm क्या होता है हिंदी में अच्छी तरह से जान लेते हैं एटीएम का full form | स्वचालित टेलर मशीन | होता है और एटीएम मशीन से बैंक में पैसे निकालने के लिए जाने की आवश्यकता नहीं पड़ती है आप किसी भी एटीएम मशीन से पैसे बेहद आसानी से निकाल सकते हैं।


  • ए: स्वचालित
  • टी: टेलर
  • एम: मशीन


एटीएम मशीन की वजह से पैसे को निकालना प्रदान प्रदान करना बेहद आसान हो गया है जब कभी भी पैसे निकालने हो तब बार-बार बैंक में नहीं जाना पड़ता है सिर्फ एटीएम मशीन में जितने चाहे उतने अपने अकाउंट से पैसे निकाल सकते हैं।


एटीएम में किसी भी फॉर्म को फिल करने की आवश्यकता नहीं पड़ती है बिना किसी काम के फिल किए एटीएम मशीन से कैसे निकाल सकते हैं किसी भी बैंक के कर्मचारी की सलाह की भी आवश्यकता नहीं पड़ती एटीएम को इस्तेमाल करना बेहद आसान है।



एटीएम का फुल फॉर्म इंग्लिश में | atm full form in english |


अब हम atm full form इंग्लिश भाषा में क्या होता है यह जान लेते हैं एटीएम मशीन नगद राशि अर्थात नगद पैसे निकालने वाली मशीन होती है एटीएम का फुल फॉर्म | Automated teller machine | होता है इस मशीन का उपयोग आप किसी भी समय अर्थात रात हो या दिन हो 24 घंटे आप एटीएम मशीन से पैसे निकाल सकते हैं एटीएम मशीन से पैसे निकालने की कोई लिमिट नहीं होती है।


  • A: Automated
  • T: teller
  • M: machine


जिस व्यक्ति का भी किसी भी अन्य बैंक में बैंक अकाउंट खाता है वह व्यक्ति अपने बैंक से एटीएम कार्ड अवश्य ले सकता है और कभी भी किसी भी समय और भारत की किसी भी एटीएम मशीन में बिना किसी चिंता के बिना कोई डर के एटीएम मशीन।


से अपने बैंक अकाउंट से पैसे निकाल सकता है उसे किसी भी बैंक के अन्य कर्मचारियों की आवश्यकता नहीं होती है ATM मशीन का इस्तेमाल बहुत ही सरल और आसान होता है जिसको कोई भी व्यक्ति कर सकता है।



ATM के कुछ और भी फुल फॉर्म अन्य देशों मै?


जी हां दोस्तों आपने सही सुना है कुछ अन्य देशों में एटीएम को अलग-अलग नामों से जाना जाता है अर्थात एटीएम के फुल फॉर्म हर एक देश के अलग-अलग हैं अब हम जानते हैं कि अन्य देशों में atm ka full form kya hai तो चलिए अब इसके बारे में अच्छी तरह से जागने लेते हैं अन्य देशों में एटीएम की फुल फॉर्म को क्या-क्या नाम दिया है।



भारत मै?


  • A: Automated
  • T: teller
  • M: machine



कनाडा में?


  • A: Automatic
  • B: Banking
  • M: Machine



और अन्य देशों में?


  • M: Machine
  • M: Mini
  • B: Bank


  • C: Cash
  • P: Point
  • C: Cash


  • H: Hole 
  • T: The
  • W: Wall


जी हां ATM को और भी अन्य देशों में अलग-अलग नाम से जाना जाता है और एटीएम को अलग-अलग देशों में अलग-अलग फुल फॉर्म है किसी भी देश का एटीएम का फुल फॉर्म एक जैसा नहीं होता है।


सभी देशों के एटीएम अलग अलग नाम से जाने जाते हैं और उनका full form भी अलग-अलग होता है नाम अलग-अलग होने से काम नहीं बदल जाता है लेकिन एटीएम मशीन का काम सिर्फ पैसे देना होता है।

atm full form
atm-full-form


एटीएम कैसे काम करता हैं?


हमने atm full form के बारे मै अच्छी तरह से जान लिया है अब जानते है की एटीएम काम कैसे करता है आपके पास एटीएम का कार्ड होना चाहिए जो आपके बैंक अकाउंट नंबर से लिंक हो अर्थात आपके पास अपने बैंक खाते का एटीएम कार्ड होना चाहिए और वह कार्ड आपको एटीएम मशीन में डालना होगा।


एटीएम कार्ड प्लास्टिक का एक कार्ड होता है और एटीएम कार्ड के नीचे ब्लैक रंग की पट्टी होती है और जब एटीएम मशीन के अंदर एटीएम कार्ड डाला जाता है तब एटीएम मशीन एटीएम कार्ड के नीचे ब्लैक रंग की पट्टी को स्कैन करती है और आपके खाते के बारे में जानती है।


एटीएम मशीन ब्लैक रणबीर की पट्टी से ही आपके खाते के बारे में जान लेती है और अगर आप अपने पैसे देखना चाहते हैं कि खाते में कितने हैं आप वह भी देख सकते हैं और अगर आप पैसे निकालना चाहते हैं तब आप कैसे भी निकाल सकते हैं।


ATM कार्ड के नीचे जो ब्लैक पट्टी होती है वही सबसे महत्वपूर्ण होती है क्योंकि उससे ही एटीएम मशीन आप के खाते के बारे में जानती है पहचानती है तब भी आप अपने अकाउंट से पैसे निकाल सकते हैं और जब भी पैसे निकालने के लिए आप एटीएम मशीन को कमांड देते हैं।


तब वह आपके बैंक को एक मैसेज कोड भेज ती है और आपका बैंक उस कोड को अप्रूव करता है और यह काम बहुत ही जल्दी 1 सेकंड के कम समय में हो जाता है और अप्रूव बहुत ही आपको अपना डाला गया अमाउंट मशीन देती है।


और वह पैसे आपके अकाउंट से तुरंत ही कट जाते हैं और पैसे आपके पास आ जाती है फिर आपको एक रिसिप्ट मिलती है जिसमें आपके अकाउंट से कितने पैसे निकले हैं और कितने पैसे अभी हैं यह बताया होता है।



एटीएम मै कौन कौन से पार्ट्स लगे होते है?


अब हम बात करते हैं कि एटीएम मशीन में कितने पार्ट्स लगे होते हैं हम आपको बता दें कि एटीएम कार्ड में सिर्फ दो पार्ट होते हैं जो कि बहुत महत्वपूर्ण होते हैं जिसको हर एक व्यक्ति की याद आसानी से एटीएम मशीन का इस्तेमाल कर सकता है किसी को भी एटीएम मशीन इस्तेमाल करने में कोई भी परेशानी नहीं होती है अब हम बात करते हैं कि वह कौन-कौन से पार्ट होते हैं।


1. Output Device

2. Input Device



Output Device


स्क्रीन


एटीएम मशीन में स्क्रीन सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण होती है स्क्रीन में व्यक्ति के खाते की जानकारी खाते का नाम व्यक्ति का नाम कितना नकद राशि निकालना है यह सब एटीएम की स्क्रीन पर दिखाया जाता है स्क्रीन के बिना एटीएम इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है बिना स्क्रीन कि आप एटीएम इस्तेमाल नहीं कर सकेंगे।



कैश डिस्पेंसर


यह एटीएम का बहुत ही महत्वपूर्ण आउटपुट पार्ट्स होता है क्योंकि इस आउटपुट पार्ट से नगदी कैसे निकाले जा सकते हैं क्योंकि यही महत्वपूर्ण पार्ट है जो नगदी कैसे निकाल कर देता है।



रिसिप्ट प्रिंटर


यह भी बहुत महत्वपूर्ण एटीएम पार्ट होता है क्योंकि एटीएम मशीन पर आप चाहे बैलेंस इंक्वायरी करें या आप नगदी कैसे निकाले उन सब की रिसिप्ट आपको यह रिसिप्ट प्रिंट आउटपुट देता है।


आप ने कितने पैसे निकाले हैं और आपके अकाउंट में कितना बैलेंस बाकी है इन सब की रिसिप्ट प्रिंटर आउटपुट के रूप में हमें देता है यह भी एटीएम का महत्वपूर्ण हिस्सा है।



स्पीकर्स


कुछ अन्य ATM में स्पीकर भी लगे होते हैं जब कोई एटीएम में पैसे का लेनदेन अर्थात पैसे निकालता है तब एटीएम के स्पीकर ऑडियो फीडबैक देने के लिए होते हैं।


atm full form
atm-full-form


Input Device


कार्ड रीडर


कार्ड रीडर एटीएम का एक बहुत ही महत्वपूर्ण और सबसे खास पार्ट होता है क्योंकि एटीएम मशीन है ना मैं सबसे ज्यादा इंपॉर्टेंट होता है कार्ड रीडर जिसमें कार्ड को डाला जाता है उसको कार्ड रीडर कहा जाता है और वह कार्ड रीडर आपके ATM कार्ड के नीचे लगी ब्लैक कलर की मैग्नेटिक चिप है।


और उससे ब्लैक कलर की मैग्नेटिक चिप मैं आपके खाता नंबर और आपकी निजी जानकारी होती है जिसको कार्ड रीडर स्कैन करता है अर्थात पड़ता है और आप के बैंक के सीवर को मैसेज भेजता है जब आप की जानकारी कंफर्म हो जाती है तब वह अकाउंट से पैसे निकालने और देखने के कमांड को स्वीकार करता है तब आप पैसे निकालने में सक्षम हो जाते हैं।



कीपैड


कीपैड एक बहुत ही महत्वपूर्ण इनपुट होता है क्योंकि कीपैड के जरिए ही जब आप अपने खाते में से पैसे निकालने के लिए अपना पिन कीपैड का इस्तेमाल करके ही डालते हैं और कितने पैसे निकालने हैं।


उसका अमाउंट भी कीपैड से डाला जाता है और जब आप पैसे निकाल लेते हैं तब कैंसिल है और क्लियर करने की जो ऑप्शन होती है वह कीपैड पर ही होती है इस तरह से कीपैड एटीएम में एक बहुत ही महत्वपूर्ण इनपुट लेने के भूमिका निभाता है।


यह है कुछ महत्वपूर्ण ATM के पार्ट्स जिनके बिना एटीएम मशीन काम नहीं कर सकती है तो चली गई अब एटीएम के बारे में और अच्छी तरह से जान लेते हैं।



एटीएम कितने प्रकार का होता है?


हम आपको बता दें कि एटीएम के भी प्रकार होते हैं और वह प्रकार कौन-कौन से होते हैं हम आगे जानेंगे हम आपको बता दें कि एटीएम के 10 प्रकार होते हैं जी हां 10 प्रकार होते हैं तो चलिए आप हम एटीएम के 10 प्रकार के बारे में चर्चा कर लेते हैं।



Online ATM


इस तरह का एटीएम ऑनलाइन एटीएम इसलिए कहा जाता है क्योंकि यह एटीएम 24 घंटे आपके बैंक अकाउंट से जुड़ा रहता है आप जब भी कभी चाहे दिन में हो या रात में आप कभी भी किसी भी एटीएम में जाकर 24 घंटों में पैसे निकाल सकते हैं।



Offline ATM


इस तरह का एटीएम ऑफलाइन ATM इसलिए कहा जाता है क्योंकि यह आपके बैंक के डाटा बेश से जुड़ा नहीं होता है यदि आपके बैंक में आवश्यक राशि उपलब्ध नहीं है और आप निकाल रहे हैं तब बैंक आपको जुर्माना भी लगा सकता है इसलिए इसको ऑफलाइन एटीएम कहा जाता है।



On Site ATM


इस तरह के एटीएम में एटीएम होते हैं जो कि बैंक के अंदर लगे होते हैं जी हां जो एटीएम मशीन में बैंक के अंदर लगी होती है उसको ही ऑनसाइट एटीएम कहा जाता है।



Off Site ATM


और इस तरह के एटीएम ऑफसाइट ATM होते हैं जो बैंक के अंदर अलग-अलग स्थानों पर स्थित होते हैं उस तरह के एटीएम को ऑफ साइड क्यों कहा जाता है एटीएम बैंक की अंतर अलग-अलग स्थानों पर जगह पर स्थित होते हैं।



White Label ATM


हम आपको बता दें कि इस तरह के एटीएम वह एटीएम होते हैं जो Financial Companies द्वारा अलग-अलग जगह पर स्थापित किए जाते हैं और उसको व्हाइट लेबल एटीएम कहा जाता है।



Yellow Label ATM


इस तरह की एटीएम उन एटीएम को बोला जाता है जो E-Commerce reason प्रदान किए जाते हैं अर्थात लगाए जाते हैं उस तरह के ATM को येलो लेबल एटीएम कहा जाता है।



Brown Label ATM


इस तरह की एटीएम एटीएम होते हैं जिन पर एटीएम मशीन के पट्टे पर सर्विस प्रोवाइडर का ओनरशिप होता है लेकिन बैंकिंग नेटवर्क के लिए और कैसे की मैनेजमेंट बैंक के द्वारा ही प्रदान की जाती है इसलिए इसको ब्राउन लेबल एटीएम कहां जाता है।



Orange Label ATM


इस तरह के एटीएम वह कम होते हैं जो सिर्फ शेयर ट्रांजैक्शन प्रदान करने के लिए इस्तेमाल में किए जाते हैं इसलिए इसको ऑरेंज लेबल एटीएम कहां जाता है इसका इस्तेमाल ज्यादा नहीं होता है।



Pink Label ATM


इस तरह के एटीएम वह ATM होते हैं जो सिर्फ महिलाओं के लिए ही होते हैं इनका इस्तेमाल सिर्फ महिलाएं कर सकती हैं यह महिलाओं के लिए प्रदान किए जाते हैं।



Green Label ATM


और यह एटीएम वह एटीएम होते हैं जो कृषि के किसी भी लेनदेन करने के लिए प्रदान किए जाते हैं इसलिए इसको ग्रीन लेबल एटीएम कहा जाता है यह एटीएम पैसे लेनदेन के लिए ही प्रदान किए जाते हैं।


दोस्तों को यह हैं एटीएम के वह 10 प्रकार जिनका इस्तेमाल अलग-अलग तरह से होता है और जिनका काम भी बैंकिंग कैश ट्रांजैक्शन के काम से अलग-अलग कारों को पूरा करने का होता है।



ATM के बारे मै रोचक और महत्वपूर्ण जानकारी? 


तो चलिए दोस्तों अब हम एटीएम के बारे में कुछ बहुत ही महत्वपूर्ण और रोचक जानकारियां जान लेते हैं जिनको सुनकर आपको आश्चर्य जरूर होगा और बहुत कुछ सीखने को भी मिलेगा तो चलिए के बारे में वह कौन सी महत्वपूर्ण जानकारी है तो चलिए जानते हैं।



अमेरिका में सबसे पहला एटीएम?


हम आपको बता दें कि 2 सितंबर सन 1969 केमिकल बैंक ने रॉकविले सेंटर न्यूयॉर्क में अपनी शाखा में अमेरिका में पहला एटीएम स्थापित किया था।



भारत में सबसे पहला एटीएम?


आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि भारत में सबसे पहला ATM 1987 में स्थापित किया गया था।



दुनिया में सबसे पहला एटीएम कब लगा था?


दोस्तों आपको यह जानकर बहुत हैरानी होगी कि दुनिया का सबसे पहला एटीएम 27 जून सन 1967 को लंदन के एक बैंक Barclays Bank मैं पहली बार स्थापित किया गया था यह दुनिया का सबसे पहला एटीएम था।



एटीएम का सबसे पहला इस्तेमाल किसने किया था?


दोस्तों यह बहुत अच्छी बात है कि दुनिया में सबसे पहले एटीएम इस्तेमाल करने वाले व्यक्ति प्रसिद्ध कॉमेडियन अभिनेता रेग वर्नी ने पहली बार एटीएम मशीन से अपने एटीएम कार्ड से पैसे निकाले थे।



एटीएम पिन 6 अंको से घटकर 4 अंकों तक?


जी हां दोस्तों यह आपको बात जरूर आश्चर्य करेगी की जब एटीएम का आविष्कार जॉन शेफर्ड बैरोन ने किया था तब उन्होंने एटीएम पिन को 6 अंको का किया था परंतु 6 अंक उनको आसानी से याद नहीं हो पा रहे थे।


वह बार-बार भूल जाते थे इसी प्रॉब्लम को ठीक करने के लिए एटीएम कार्ड की पिन को 4 अंकों तक सीमित कर दिया गया चार अंक आसानी से याद हो जाते हैं।



बिना अकाउंट के ATM का होना?


जी हां आपको यह जानकर हैरानी होगी कि रोमानिया के यूरोप देश मैं ऐसा होता है जहां पर बैंक खाते की आवश्यकता नहीं पड़ती है वहां पर सीधा एटीएम से पैसे निकाले जा सकते है। 


बायो मीट्रिक एटीएम?


आप आपको यह बात जानकर बहुत हैरानी होगी कि ब्राजील में एक ऐसा भी एटीएम है जो सिर्फ उंगलियों को स्कैन करके खाताधारक के खाते के बारे में जानता है और फिर पैसे निकालता है ब्राजील का यह एटीएम तो सच में कमाल का है क्या आप चाहते हैं की अपने भारत देश में भी ऐसा एटीएम होना चाहिए।



एटीएम के कुछ और फुल फॉर्म कुछ इस तरह से?


जी हां दोस्तों एटीएम के कुछ और भी अन्य फुल फॉर्म में है जिनके बारे में भी है शायद आपको ना पता है आज हम उन सभी फुल फॉर्म के बारे में अच्छी तरह से जान लेते हैं कि वह कौन-कौन से फूल से नाम होते हैं तो चलिए अब और एटीएम की फुल फॉर्म के बारे में जानते हैं।


  • A: Association
  • T: Teachers
  • M: Mathematics


  • A: Air 
  • T: traffic 
  • M: Management


  • A: Asynchronous 
  • T: Transfer 
  • M: Mode


  • A: Angkatan 
  • T: Tentera 
  • M: Malaysia


एटीएम के यह कुछ अन्य ATM के फुल फॉर्म है जो अलग अलग जगह पर अलग अलग फुल फॉर्म होते है तो अब हम ने atm full form क्या होता और इसके अतिरिक्त अच्छी तरह से जान लिया है एटीएम कैसे इस्तेमाल किया जाता है उसके बारे मै जान लेते है।

atm full form
atm-full-form


एटीएम कार्ड इस्तेमाल कैसे किया जाता है?


आप हम जानते हैं की एटीएम कार्ड को इस्तेमाल कैसे किया जाता है यदि आप का किसी भी बैंक मै अकाउंट है तो आप के पास अपने बैंक खाते का जरूर एटीएम कार्ड भी होगा अगर नहीं है।


तो आप अपने बैंक से अपने खाते का एटीएम कार्ड जरूर ले आप को बैंक के द्वारा एक फार्म  फिल करना होगा तब आपको आपका एटीएम कार्ड बैंक से मिल जाएगा अब बात करते हैं कि एटीएम कार्ड कैसे इस्तेमाल करते हैं।


एटीएम कार्ड इस्तेमाल करने के लिए क्या होना चाहिए?


बैंक मै अकाउंट और एटीएम कार्ड?


यदि आप ATM मशीन से पैसे निकालना चाहते है तब सबसे पहले आप के पास आप का बैंक मै अकाउंट होना चाहिए और आप के पास अपने बैंक खाते का एटीएम कार्ड होना चाहिए तभी आप एटीएम मशीन से अपने बैंक अकाउंट से पैसे निकालने मै सक्षम होंगे।



बैंक अकाउंट मै राशि?


आप के पास बैंक अकाउंट और आप के पास एटीएम कार्ड भी है तो आप के बैंक खाते मै निकलने के लिए योग राशि होनी चाहिए अर्थात आप के बैंक अकाउंट मै पैसे होने चाहिए कम से कम ₹500 होने चाहिए तभी आप एटीएम मशीन से पैसे निकाल पाएंगे।



नजदीक ATM मशीन?


आप के पास नजदीक मै एक एटीएम मशीन होनी चाहिए चाहे आप किसी भी एटीएम मशीन से पैसे निकाल सकते है पैसे निकालने के लिए आप को एटीएम मशीन मै अपने खाते का एटीएम कार्ड का ब्लैक पट्टी वाला हिस्सा नीचे करके एटीएम मशीन मै ड्रॉप करना होगा।


और एटीएम मशीन उस ब्लैक पट्टी से आप के खाते के बारे मै अच्छी तरह जान लेगी फिर आप के सामने हिंदी या इंग्लिश भाषा के ऑप्शन आएगी और आप हिंदी और इंग्लिश भाषा में किसी भी एक ऑप्शन को चुनना होगा यदि आप ऑप्शन को चुन लेते हैं तब आपके पास दो ऑप्शन और और आएगी।


और एक ऑप्शन होगी बैलेंस इंक्वायरी के लिए और एक और शनोगी सेविंग अकाउंट अगर आपको आप पैसे निकलवाने हैं तो आपको सेविंग अकाउंट पर क्लिक करना है यदि आपको अकाउंट में पैसे देखने हैं कितने हैं तब आपको बैलेंस इंक्वायरी पर क्लिक करना है यदि आप पैसे निकलवाना चाहते हैं तब आप सेविंग अकाउंट पर क्लिक करेंगे।


और उसके बाद आपसे अमाउंट पूछा जाएगा अर्थात आप कितने पैसे अपने बैंक अकाउंट से निकलवाना चाहते हैं फिर आप अपना अमाउंट भरेंगे और उसके बाद आपके एटीएम कार्ड का पिन नंबर पूछा जाएगा जो 4 अंको का होता है फिर आपको अपना बिना नंबर चार अंको का भरना होगा फिर आपने जो अमाउंट डाला था और ATM मशीन आपके पैसे बाहर निकालेगी।


और सामने ही पैसे आपको दिखने लगेंगे और वह पैसे यहां पर हाथ में ले लेंगे और फिर एटीएम मशीन आपको एक पेमेंट रिसिप्ट देखें जिसमें आपके बैंक में कितने पैसे निकले हैं और कितने पैसे आपके बैंक अकाउंट में है यह सब उससे रिसिप्ट में दिखाया होगा ऐसे था आप बहुत आसानी से ATM मशीन से पैसे बाहर निकाल सकते हैं।


दोस्तों मुझे उम्मीद है कि ATM का full form क्या होता है और एटीएम के अतिरिक्त सभी जानकारी को आपको अच्छे से ज्ञान हो गया होगा आपको एटीएम की अतिरिक्त सारी जानकारी प्राप्त हो गई होगी और हमारी इस जानकारी से आपको कुछ नया जरूर सीखने को मिला होगा।


क्योंकि हमने आपको बेहद आसान शब्दों का इस्तेमाल कर आपको बेहद ही स्पष्ट और सरल तरीके से समझाया है अगर आपको हमारी दी गई जानकारी अच्छी लगे हैं और आपको कुछ नया सीखने को मिला है तो आप हमें कमेंट के माध्यम से जरूर बताएं क्योंकि आपका एक-एक मैच हमारे लिए बहुमूल्य है पोस्ट को पूरा करने के लिए दिल से धन्यवाद।



दोस्तों यह atm full form पोस्ट अगर आपको हमारी जानकारी अच्छी लगी है तो आप कॉमेंट करके हमें जरूर बताएं और इसे अपने दोस्तो के साथ शेयर जरूर करें और आप हमें फ़ॉलो करना बिलकुल ना भूलें आप हमें फ़ॉलो जरूर करें।Thanks!

No comments:

Post a Comment